एक बार फिर चाची व भतीजे का रिश्ता हुआ शर्मशार , चाचा गये कमाने बाहर तो भतिजे ने उठा लिया मौके का फायदा।

0
1069

एक बार फिर चाची भतीजे का रिश्ता हुआ शर्मशार , चाचा गये कमाने बाहर तो भतिजे ने उठा लिया मौके का फायदा।
दरअसल एक मामला ऐसा है कि आप सुन कर हैरान हो जाएंगे की चाची ने भतिजे से कर शादी।

एक खबर इन दिनों बिहार के शिवहर जिले से आ रही है जिसे जानकार आप भी हैरान रह जायेंगे. दरअसल एक भतीजे ने अपनी ही सगी चाची से शादी रचा ली है. भतीजे और चाची की शादी की खबर गांव-मोहल्ले में आग की तरह फ़ैल गई और. गांव वालों ने इसकी सूचना उसके चाचा को भी दे दी है, पुरी घटना सोमवार शाम की है एक अनोखी शादी हुई। यहां भरी पंचायत में टार्च की रोशनी में बबलू कुमार ने महिला की मांग में सिदूर डाला। वहीं अग्नि की बजाए पंचायत को साक्षी मानकर सात जनम तक साथ निभाने की शपथ ली। वहीं हाथ उठाकर शादी की रजामंदी दी। पुरा मामला शिवहर जिले के तरियानी प्रखंड का है. जहां कुंडल गांव में एक भतीजे बबलू कुमार ने सिंदूर से अपनी ही सगी चाची की मांग भर दी और इसे पत्नी बना लिया. बताया जा रहा है कि दोनों कई दिन से रिलेशनशिप में रह रहे थे।दोनों के बीच शारीरिक संबंध भी था। सुत्रो से  जानकारी मिली है कि महिला का एक बच्चा भी है.

दोनों अक्सर गांव के बाहर भी घूमने-फिरने भी जाते रहते थे. दोनों की प्रेम लीला की कहानी जानकारी धीरे- धीरे पूरे गांव हो गई थी. लेकिन गांव के लोगों को यह मंजूर नहीं था. सोमवार की रात जब दोनों बाहर से घर लौटे तो गांव के लोग उसके घर पर जुट गए. दोनों को घर से बाहर निकाला गया और ग्रामीणों के दबाव में दोनों की शादी करा दी गई. गांव वालों के सामने भतीजे ने चाची की मांग भरकर उसे अपनी पत्नी बना लिया.दरअसल जिस महिला से भतीजे ने शादी रचाई है, उसका पति बाहर कामता है. सात साल पहले ही उसकी शादी हुई थी लेकिन महिला का पति साल में एक या दो बार ही घर आता था. पति के घर नहीं आने के कारण महिला आपके भतीजे के करीब चली गई. और दोनों में इतनी नजदीकियां बढ़ीं कि दोनों के बीच संबंध स्थापित हो गए. इसलिए गांव वालों ने दोनों की शादी करा दी.

बताया जा रहा है कि गांव के सैकड़ों लोगों के सामने यह घटना हुई, लेकिन स्थानीय प्रशासन को इसकी जानकारी तक नही है. मालूम हो कि महिला कि पति प्रदेश में मजदूरी कर रहे हैं उन्हें इस घटना की जानकारी किसी ग्रामीणों ने फोन पर दी है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here