डोली, घोड़ी और रथ पर बारात तो आपने बहुत देखीं होंगीं, लेकिन बगहा में दूल्हे की कुछ अलग ही तस्वीर सामने आई है. यहां दूल्हे को गोद में लेकर चलती हुई बारात दिखी है.

0
225

बिहार .बगहा-. डोली, घोड़ी और रथ पर बारात तो आपने बहुत देखीं होंगीं, लेकिन बगहा में दूल्हे की कुछ अलग ही तस्वीर सामने आई है. यहां दूल्हे को गोद में लेकर चलती हुई बारात दिखी है. इस गांव में न सवारी है और न बैंड बाजा. न बारात की घूम रही है और न ही शादी का माहौल नजर आ रहा है.। बगहा के रामनगर थाना क्षेत्र के बभनी गांव के बन्धु गोंड के बेटे प्रमोद कुमार की बारात ने विकास की पोल खोल दी है. दसअसल यह हालात उस समय बने जब गांव में अचानक बाढ़ का पानी घुस आया.

गांव में बन्धु के घर शादी की तैयारी चल रही थी, अचानक बारात निकलने से पहले ही गांव में पानी घुस गया. बगहा के रामनगर थाना के बभनी गांव में बाढ़ के पानी के बीच बारात निकालना मुश्किल बन गया तो ग्रामीण आगे आये और दूल्हे को गोद में ही लेकर बारात गांव से बाहर निकाला गया।बारात रामनगर के बभनी से मोतिहारी को जाना था, लेकिन मुसलाधार बारिश के बीच गांव में पानी घुसने से रास्ता अवरुद्ध हो गया, जिससे गांव तक सवारी नहीं पहुंच सकी. दूल्हे के घर कर आने के लिए तीन फीट तक पानी पार कर बाराती भी अपना कपड़ा खोलकर बारात चले., अब आखिर सवाल उठता है कि सरकार इस तरह के दावे कियों करते जिसके सारे पोल हल्की बारिश में ही खुल जाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here