आखिर क्यों – सर्प को देखने के लिए लगा मेला , आस्था का केंद्र बना मंगवार गांव, लागातार तीन दिन से एक ही स्थान पर है सर्प।

0
707

सर्प देखने के लिए लगा मेला , आस्था का केंद्र बना मंगवार गांव, लागातार तीन दिन से एक ही स्थान पर है सर्प।

गजेन्द्र कुमार सहरसा जिले के सोनवर्षा राज प्रखंड क्षेत्र के मंगवार गांव में इन दिनों आस्था का केन्द्र बना हुआ है लगातार कई दिनों से एक विशेले सर्प जिससे कोई नागदेवता कहता है तो कोई नागिन। इस को देखने के लिए लगातार कई दिनों से यहां लोगों का जनशैलाव उमरा पड़ा है । बताते चलें कि मंगवार गांव स्थित मां गायत्री मंदिर के समीप सड़क के किनारे बांस के जड़ में लगातार तीन दिनो से एक सर्प को देखने के लिए  होर मंची हुई  है। लोग इसे नाग देवता मान कर खुब पुजा पाठ कर रहे हैं। लोगों दुध लाबा रुपए पैसे , अगरवत्ती के साथ साथ आज( सोमवार ) को दिन भर भजन कीर्तन भी खुब चला। वहीं लोगों के मन में एक ही सवाल उत्पन्न हो रहा है कि आखिर एक ही जगह पर चार दिन से ये विशैले सर्प कैसे रह सकता है।

     दिनभर होता रहा कीर्तन भजन

इसको लेकर लोगों द्वारा की तरह के चर्चे भी किया जा रहा है। वहीं लोगों द्वारा बताया जा रहा है कि एक व्यक्ति ने विशेष के गन्दे  गलाश में दुध पीने को दिया तो वह नहीं पीया लेकिन दुसरे व्यक्ति ने श्रद्धा भाव से कटोरे में दुध दिया तो वह पी लिया।,इस तरह के कई चर्चे हो रहे हैं।

  सर्प के नजदीक चढ़ाया गया फुल पत्ती, दुध लाबा, मिठाई, अगरवत्ती, रुपए पैसे

बताते चलें कि इस सर्प को देखने के लिए दूर-दूर से भी लोग आने लगे हैं जिस को लेकर ग्रामीण ने सोमवार को  उक्त स्थान को साफ सुथरा कर टेंट बाजे लगा कर दिन भर भजन कीर्तन का भी आयोजन किया। जिसके कारण दिन भर लोगों का भीड़ लगा रहा । खबर प्रकाशित होने तक सर्प उक्त स्थान पर ही मौजूद था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here