सहरसा- बसनही पुलिस की कारनामे- लुटी गई बाइक थाना परिसर में लगी है,लेकिन अब बाइक वापसी के नाम पर पीड़ित को जेल भेजने की बात कह धमकाया जा रहा है,बसनही थाना अध्यक्ष ने कहा हमें पता नहीं है।

0
603

पीड़ित ने एसपी समैत डीएसपी को अपनी छिनी गई बाईक उपलब्ध कराने आवेदन देकर लगाई न्याय की गुहार।

सोनवर्षाराज.सहरसा बसनही थाना पुलिस द्वारा मोटरसाईकिल छिनतई मामले में कार्रवाई नही करने से क्षुब्ध पीड़ित ने आरक्षी अधिक्षक व एसडीपीओ को आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई है। पीड़ित के अनुसार दिए गए आवेदन पर बसनहीं पुलिस ने बाइक तो बरामद कर लिया। लेकिन अब बाइक वापसी के नाम पर पीड़ित को जेल भेजने की बात कह धमकाया जा रहा है।

उपलब्ध आवेदन अनुसार महुआ सिंगारपुर निवासी पीड़ित गुड्डू विश्वास बीते 13 जुलाई को अपने ससुराल ननौति से अपने बाईक पर सवार होकर घर लौट रहा था । इसी क्रम में ननौति गांव निवासी इंदल कामत ने उसकी स्प्लेंडर प्लस बाइक नम्बर बीआर-19-आर 9632 को जबरन रोक गाली-गलौच करते हुए छीनकर फ़रार हो गया। घटना बाद पीड़ित ने मामले की जानकारी देते हुए बसनहीं थाने में आवेदन देकर छिनी गई मोटरसाइकिल बरामद करवाने की गुहार लगाई थी। तथा उसी क्रम में थाना आने जाने के दौरान पीड़ित जब बीते 5 अगस्त को बसनहीं थाना गया तो पीड़ित को से छीनी हुई मोटरसाइकिल बसनही थाने परिसर में लगा नजर आया।
थाने में अपनी बाइक देख पीड़ित ने थानाध्यक्ष रहमान अंसारी से अपनी बाईक मांगी साथ ही आरोपी के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई के बाबत पूछा। जिससे गुस्साए थानाध्यक्ष ने उल्टा पीड़ित को मामला दर्ज कर जेल भेजने की धमकी देते हुए थाना से भगा दिया। जिसके बाद से पीड़ित से पीड़ित थाने से अपने बाइक की वापसी एवं आरोपी के विरुद्ध कार्रवाई को लेकर लगातार थाने का चक्कर लगा रहा है।
मामले में सुत्रों से मिली जानकारी अनुसार बताया जाता है कि बसनहीं थाना पुलिस के दबाव में आरोपी इंदल कामत ने छीनी गई बाईक थाने में जमा कर दिया था।
बताते चले की पीड़ित गुड्डू विस्वास अन्य प्रदेश में मजदूरी करके अपने परिवार का गुजर बसर करता है। लॉकडाउन के दौरान घर वापस लौट कर किश्त पर मोटरसाइकिल खरीद सब्जियों की खरीद बिक्री करने लगा था।
बावजूद इसके बसनहीं थाना परिसर में पीड़ित की मोटरसाइकिल लगी होने पर भी थानाध्यक्ष रहमान अंसारी ने कहा कि उन्हें मामले की कोई जानकारी नहीं है पता कर बताउंगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here