सहरसा- मारपीट के दौरान जख्मी युवक की इलाज के दौरान हुई मौत , गुस्साए ग्रामीणों ने शव रखकर सड़क को किया जाम।

0
353

मारपीट के दौरान जख्मी युवक की इलाज के दौरान मौत हो गई।

वहीं घटना से गुस्साए लोगों ने बलवाहाट चौक के समीप बीच सड़क पर शव को रख कर किया जाम

सहरसा सिमरी बख्तियारपुर– बलवाहाट ओपी क्षेत्र के बैजनाथपुर गांव में बीते दिनों हुए मारपीट के दौरान जख्मी युवक की इलाज के दौरान मौत हो गई। वहीं घटना से गुस्साए लोगों ने बलवाहाट चौक के समीप बीच सड़क पर शव को रख कर बलवाहाट-सिमरी बख्तियारपुर मार्ग को यातायात को बाधित कर दिया। आक्रोशित लोगों ने चार घंटे तक जाम कर प्रदर्शन किया। आक्रोशित लोग आरोपित की अविलंब गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे।
पटना में इलाज के दौरान हुई मौत सिमरी बख्तियारपुर प्रखंड के सरोजा पंचायत बैजनाथपुर गांव में विगत दिनों हुई मारपीट के दौरान जख्मी एक युवक की मंगलवार की सुबह इलाज के दौरान निजी हॉस्पिटल जीवनदीप पटना में मौत हो गई। पटना में पोस्टमार्टम के बाद मृतक का शव घरवालों को सौंप दिया गया। मारपीट के इस मामले में लगभग 12 दिन पूर्व ही स्वजनों द्वारा चार व्यक्तियों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। बावजूद इसके पुलिस द्वारा किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया। इससे आक्रोशित स्वजनों व ग्रामीणों ने बलवा हाट एनएच 107 धरमू चौक पर जमकर हंगामा किया।

बैजनाथपुर गांव निवासी दुलारचंद साह ने कहा कि उनके पड़ोसी रतन साह की बकरी फसल खा कर बर्बाद कर दिया। इसकी शिकायत करने पर मेरी नतनी कुंदन कुमारी (17) दरवाजे पर खड़ी थी कि रतन कुमार साह (22), दिरखुश कुमार (21), भीखन शाह (54), मंजू देवी सभी मिलकर मारपीट करने लगे। वहीं चीखने-चिल्लाने पर मेरा नाती चंदन कुमार (19) अपनी बहन को बचाने आया तो रतन साह ने अपने हाथ में लिए कुदाल से सर पर प्रहार कर गंभीर रूप से जख्मी कर दिया। गंभीर रूप से घायल दोनों भाई- बहनों को इलाज के लिए सहरसा भेजा परंतु चिकित्सक ने चंदन कुमार की नाजुक स्थिति को देखते हुए बेहतर इलाज के लिए पटना रेफर कर दिया। इलाज के दौरान ही बुरी तरह जख्मी चंदन कुमार की मंगलवार की सुबह मौत हो गई। उसकी बहन की इलाज जारी है जो खतरे से बाहर बताई जा रही है। जानकारी मिलते ही परिजनों में कोहराम मचा गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here