सहरसा सोनवर्षा राज – नाग सर्प को देखने की मची होर, दूध लावा के साथ-साथ फूल पत्ती व अगरवत्ती भी चढ़ाने को लोग हैं मजबुर

0
1035

नाग सर्प को देखने की मची होर वही लोग दूध लावा के साथ-साथ फूल पत्ती व अगरवत्ती भी चढ़ाने को मजबुर
गजेन्द्र कुमार सहरसा सोनवर्षा राज – प्रखंड क्षेत्र के मंगवार गांव स्थित मां गायत्री मंदिर के समीप सड़क के किनारे बांस के जड़ में लगातार दो दिन से एक सर्प को देखने के लिए होर मंची हुई है। लोग इसे नाग देवता मान कर खुब पुजा पाठ कर रहे हैं। लोगों द्वारा बताया जा रहा है कि एक सप्ताह पुर्व बुधवार को ही पंचमी के दिन से ही एक विषेले सर्प को उक्त स्थान पर देखा गया था और उसके ऊपर खुब रुपए पैसे, दुध लाबा , फूल पत्ती व अगरवत्ती चढ़ाया गया।जिसकी देख देख दिन भर स्थानिय लोगों द्वारा किया गया था। लेकिन रात्रि में वो कहीं गायब हो गया था और तीन दिन तक नहीं दिखाई दिया । लोगों को लागा कि वो चला गया अब नहीं आयेगा।श निवा    शनिवार  को देखा गया ये सर्प

पुनः शनिवार को दस बजे दिन उसी स्थान पर फिर लोगों को सर्प दिखाई दिया । जिसकी जैसे ही लोगों भनक को लगी देखने के लिए आसपास के गांव से लोगों का सैलाब उमड़ने लगा । फिर पुजा पाठ चढ़ावा होने लगा । लेकिन इस बार सर्प दुसरे कलर का है। लोग इसे नागिन मानते हैं। लोग इस सर्प को हाथो से पकड़ भी लेते है । नजदीकी से मोबाइल में फोटो भी खिंच भी लेते हैं किसी को कुछ नहीं कहता है। शनिवार को शाम में लोगों का मानना था कि आज रात फिर ये विशेला सर्प कहीं चला जाएगा। लेकिन रविवार को पुनः आठ बजे से सर्प को देखने का शिलशीला चालु हो गया ओर लोगों द्वारा पुजा पाठ व चढ़ाव होना शुरू हो गया।

बुधवार को देखा गया ये सर्प

लोगों का मानना है कि इस स्थान पर कुछ विशेष है इसलिए लिए सर्प बार-बार आता है और एक ही जगह बैठे रहते हैं। किसी को कुछ नहीं कहता है । अगर उसे किसी ने अलग दुसरे जगह पहुंचा भी देते है तो पुनः उसी स्थान पर सर्प आ जाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here